byteXL ने शिक्षकों के लिए ट्रेन द ट्रेनर प्रोग्राम पेशकश किया

• प्रशिक्षण के दौरान शिक्षकों को वजीफा प्रदान

• प्रशिक्षण के दौरान शिक्षक 2 लाख रुपये तक का वजीफा कमा सकते हैं

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 8 सितम्बर 2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। आईटी के क्षेत्र में करियर बनाने के इच्छुक छात्रों के लिए अग्रणी अनुभवात्मक शिक्षण प्लेटफार्मों में से एक, जो उन्हें करियर के लिए तैयार करता है, ने 'ट्रेन द ट्रेनर्स' कार्यक्रम लॉन्च करने की घोषणा की है। यह स्टार्ट-अप शिक्षकों को byteXL द्वारा विकसित विशेष प्रशिक्षण से गुजरने के दौरान 2 लाख रुपये तक का वजीफा देने की पेशकश करता है। जहां एक ओर, कई शिक्षकों को प्रशिक्षित होने के लिए एक अच्छी-खासी रक़म खर्च करनी पड़ती है, byteXL वास्तव में उन्हें प्रशिक्षित होने के लिए भुगतान कर रहा है। 'ट्रेन द ट्रेनर्स' कार्यक्रम के तहत प्रतिभागियों को उद्योग के विशेषज्ञों द्वारा 26 सप्ताह तक अत्याधुनिक तकनीकों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह प्रमाणन प्रशिक्षक को अपने साथियों से आगे निकलने के लिए एक विशिष्टता प्रदान करेगा और अग्रगामी प्रौद्योगिकियों में अपस्किल करेगा जो उनकी सुविज्ञता और रोजगार क्षमता को बढ़ायेंगे। इंटर्नशिप शिक्षण कौशल को निखारने के लिए वास्तविक जीवन 'अनुभवात्मक शिक्षण' भी प्रदान करेगी, जिसे बेहद सावधानीपूर्वक तैयार किया गया है कार्यक्रम। इच्छुक उम्मीदवार hr@bytexl.in ईमेल करके मुफ्त प्रशिक्षण के लिए खुद को नामांकित कर सकते हैं।

प्रौद्योगिकी में गहरी दिलचस्पी रखने वाले और साथ ही, पढ़ाने का जुनून रखने वाले, सहज संप्रेषकों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। पाठ्यक्रम में प्रवेश केवल कामकाजी पेशेवरों और स्नातकों तक ही सीमित नहीं है, गृहिणियों और सेवानिवृत्त लोगों सहित कार्यबल में फिर से प्रवेश करने के इच्छुक भी आवेदन कर सकते हैं। स्क्रीनिंग प्रक्रिया, जिसमें एक लिखित परीक्षा और तकनीकी साक्षात्कार शामिल है, के बाद चयनित उम्मीदवारों को एक वर्ष से अधिक समय तक प्रशिक्षित किया जाता है। इस अवधि में, वे प्रोग्रामिंग भाषाओं जैसे सी, डीएस और एल्गो, पायथन, सी++, जावा, फुलस्टैक और एआई/एमएल, डेटा साइंस और ब्लॉकचैन इत्यादि की उभरती प्रौद्योगिकियों में कठोर प्रशिक्षण से गुजरते हैं।, प्रशिक्षण सत्रों को सुविधाजनक बनाने में अनुकरणीय कौशल का प्रदर्शन करते हुए, उम्मीदवारों को कंटेंट विकसित करने की क्षमता भी प्रदर्शित करनी होगी। byteXL टेक्निकल ट्रेनर सर्टिफिकेशन प्राप्त करने के बाद, वे अपनी पसंद के क्षेत्र में एक पूर्ण शिक्षण करियर शुरू करते हैं, जहां उन्हें कम छात्र-शिक्षक अनुपात, उच्च नौकरी सुरक्षा के साथ-साथ शिक्षण में अधिक स्वतंत्रता और प्रतिष्ठित संस्थानों से जुड़ने का अवसर मिलता है। जहां एक ओर, इस प्रशिक्षण के ज़रिए शिक्षक अनिवार्य कौशलों तथा अपडेटिड ज्ञान से लैस होंगे, वहीं एक अति विशिष्ट खूबी, जो इस प्रशिक्षण को सबसे अलग बनाती है, वह है प्रशिक्षु को मिलने वाला वजीफा, जबकि अन्य पाठ्यक्रमों में उम्मीदवार से उम्मीद की जाती है कि वह संस्थान को शुल्क का भुगतान करे। जैसे-जैसे वे अपने प्रशिक्षण में आगे बढ़ते हैं, इस भत्ते में भी वृद्धि की जाती है। प्रमाणन को सफलतापूर्वक पूरा करने पर, उन्हें उस कंपनी में शामिल कर लिया जाएगा जो देश भर के प्रमुख शहरों में काम करती है। योग्य शिक्षक प्रशिक्षण के दौरान अपनी प्रगति के आधार पर INR 2 लाख तक कमा सकते हैं।

ट्रेन द ट्रेनर कार्यक्रम लॉन्च करते हुए, byteXL के मुख्य कार्यकारी अधिकारी तथा सह-संस्थापक, श्री करुण ताडेपल्ली ने कहा, “भारत में आईटी इंजीनियरिंग के छात्रों को प्रशिक्षण देने के बाद, byteXL ने प्रशिक्षण के क्षेत्र में कदम रखा है, जहां हम एक ज़बरदस्त मॉडल बनाने की कल्पना करते हैं, जो ट्यूटर प्रशिक्षण के क्षेत्र में एक स्वर्ण मानक बनने को तैयार है। यह प्रमाणित प्रशिक्षकों को एक पारिस्थितिकी तंत्र की सुविधा प्रदान करेगा जो छात्रों को उनकी पूरी क्षमता का दोहन करने में मार्गदर्शन कर सकता है। byteXL का यह प्रशिक्षण राष्ट्र निर्माताओं (शिक्षकों) को अपने शिक्षण में अधिक कुशल बनने में मदद करेगा।

byteXL के सह-संस्थापक व मुख्य बिक्री अधिकारी श्री श्रीचरण ताडेपल्ली ने कहा, "byteXL ने पहले से ही ज़रूरत से कम सर्व किए जा रहे टियर 2 और टियर 3 शहरों के छात्रों की रोजगार योग्यता को बढ़ाकर नए मानक स्थापित किए हैं और अब यह अधिक हितधारकों को लाने पर विचार कर रही है, जिन्हें प्रशिक्षण समुदाय में जोड़ा जा सकता है, जिससे आईटी में अधिक से अधिक छात्रों को कौशल प्रदान करने में मदद मिले। बाइटएक्सएल वर्तमान में देश के 20 शहरों में 85 संस्थानों के साथ काम कर रहा है, जबकि 1,00,000 छात्रों को पारंपरिक कोडिंग भाषाओं और क्लाउड, एआई, एमएल, डॅवऑप्स, फुलस्टैक डेवलपमेंट और साइबर सिक्योरिटी सहित, हाइब्रिड लर्निंग प्लेटफॉर्म और गाइडेड करियर एक्सेलरेटेड प्रोग्राम के ज़रिए नए जमाने की तकनीकों में आईटी करियर रेडी इंजीनियर बनने में मदद कर रहा है।

Read More

Subscribe

Lorem ipsum dolor sit amet,Lorem ipsum dolor sit amet, lorem ipsum dolor.
Thank you! Your submission has been received!
Oops! Something went wrong while submitting the form.

Videos

Our Blogs

View all

Key Takeaways from our XLerate Launch with Microsoft India

Written by
byteXL
published on
December 1, 2022

5 Ways EdTech Companies Help You Land a Career in 2022

Written by
byteXL
published on
August 24, 2022

Our Story: Why We Decided to Partner with Colleges to Upskill Youth in India

Written by
Karun Tadepalli
published on
September 16, 2022